Tuesday, 9 March 2021

फ्रंटियर गांधी की आत्मकथा का अंग्रेजी में प्रकाशन

फ्रंटियर गांधी की आत्मकथा का अंग्रेजी में प्रकाशन

 


खान अब्दुल गफ्फार खान, जिसे "फ्रंटियर गांधी" के नाम से जाना जाता है, की आत्मकथा, जिसका शीर्षक "द फ्रंटियर गांधी: माई लाइफ एंड स्ट्रगल (The Frontier Gandhi: My Life and Struggle)" है, का  प्रकाशन अंग्रेजी में पब्लिशिंग हाउस रोली बुक्स (Roli Books) द्वारा किया जा रहा है. यह अंग्रेजी में उनकी पहली आत्मकथा होगी. इस पुस्तक का अंग्रेजी में अनुवाद पूर्व पाकिस्तानी लोक सेवक और लेखक इम्तियाज अहमद साहिबजादा (Imitiaz Ahmad Sahibzada) ने किया था.


Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams


इससे पहले अंग्रेज़ी में  खान अब्दुल गफ़्फ़ार ख़ान के जीवन का विवरण उनके साक्षात्कारों का एक संग्रह था और उनकी आत्मकथा नहीं थी. पुस्तक की भूमिका को इतिहासकार राजमोहन गांधी, गांधी के पोते द्वारा लिखा गया था और पुस्तक मूल रूप से पश्तो में लिखी गई थी और 1983 में प्रकाशित की गई थी.


पुस्तक के बारे में:

  • गफ्फार खान की पुस्तक स्वतंत्रता आंदोलन के जीवन की घटनाओं और व्यक्तित्वों को सामने लाती है.
  • पुस्तक में उन बलिदानों और प्रयासों का वर्णन है जिसके परिणामस्वरूप भारत को स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी.

खान अब्दुल गफ्फार खान के बारे में:

  • खान अब्दुल गफ्फार खान जिन्हें बच्चा खान, बादशाह खान और फक्र-ए-अफगान के नाम से भी जाना जाता था, का जन्म 1890 में ब्रिटिश भारत के उत्तर-पश्चिमी सीमावर्ती प्रांत उस्मानजई में हुआ था.
  • वह महात्मा गांधी के करीबी सहयोगियों में से एक थे.
  • उन्होंने 1930 से 1947 तक खुंदई खिदमतगार (भगवान के सेवक) आंदोलन का नेतृत्व किया था.


Find More Books and Authors Here


Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search