Monday, 27 July 2020

रिजर्व बैंक ने श्रीलंका के साथ 400 मिलियन डॉलर की मुद्रा अदला-बदली के समझौते पर किए हस्ताक्षर

रिजर्व बैंक ने श्रीलंका के साथ 400 मिलियन डॉलर की मुद्रा अदला-बदली के समझौते पर किए हस्ताक्षर

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा श्रीलंका के साथ 400 मिलियन डॉलर की मुद्रा अदला-बदली के समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं। इस विनिमय का उपयोग विदेशी मुद्रा भंडार को बढ़ाने और देश की वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए जाएगा, जो COVID-19 महामारी से बुरी तरह प्रभावित है। यह मुद्रा अदला-बदली समझौता नवंबर 2022 तक मान्य होगा। श्रीलंका ने RBI के साथ 400 मिलियन डॉलर की मुद्रा स्वैप के समझौते पर हस्ताक्षर दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (SAARC) के फ्रेमवर्क तहत किए है।




क्या होता है मुद्रा अदला-बदली (Currency Swap)?

मुद्रा अदला-बदली व्यवस्था में, किसी देश का केंद्रीय बैंक, किसी अन्य देश के केंद्रीय बैंक को डॉलर प्रदान करता है, जिसे विदेशी केंद्रीय बैंक निर्धारित समय में बाजार विनिमय दर के अनुसार उस देश की मुद्रा के समान धनराशि लौटा देता है। यह समझौता दो पक्षों के बीच एक मुद्रा के बदले दूसरी मुद्रा प्राप्त करने हेतु एक निश्चित समय के लिये किया जाता है, जिसमे स्वैप करने की तिथि अगले दिन अथवा दो साल बाद की भी हो सकती हैं, हालाँकि ये लेन-देन समझौते के तहत तय की गई विनिमय दर पर ही किया जाता है।


उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • RBI के गवर्नर: शक्तिकांता दास; मुख्यालय: मुंबई.
  • RBI की स्थापना: 1 अप्रैल 1935, कोलकाता.
  • श्रीलंका के राष्ट्रपति: गोटबाया राजपक्षे.
  • श्रीलंका के प्रधानमंत्री: महिंदा राजपक्षे.
  • श्रीलंका की राजधानी: श्री जयवर्धनेपुरा कोटे.
  • श्रीलंका की मुद्रा: श्रीलंकन रुपया.

          Post a comment

          Whatsapp Button works on Mobile Device only

          Start typing and press Enter to search