Saturday, 21 March 2020

APEDA ने कृषि क्षेत्र के विकास के लिए SFAC के साथ किया समझौता

APEDA ने कृषि क्षेत्र के विकास के लिए SFAC के साथ किया समझौता

कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (APEDA) और लघु कृषक कृषि व्यापार संघ (SFAC) द्वारा एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं। इस एमओयू का उद्देश्य कृषि और सम्बद्ध क्षेत्रों के विकास और हितधारकों को बेहतर मूल्य उपलब्ध कराने के लिए कृषि निर्यात हेतु परस्पर सहयोग करना है। दोनों संगठन किसान उत्पादक संगठनों, किसानों की सहकारी समितियों को निर्यात मूल्य श्रृंखला से जोड़ने की दिशा में भी काम कर रहे हैं। उपर्युक्त उद्देश्य को क्षमता निर्माण, बुनियादी ढांचे के निर्माण, समूहों में प्राथमिक और माध्यमिक प्रसंस्करण की सुविधा के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है।




एपीडा और एसएफएसी के बीच समझौते से मुख्य तथ्य:
  • एमओयू के अंतर्गत, एपीडा और एसएफएसी संयुक्त रूप से निर्यातकों के साथ एफपीओ को जोड़ने के लिए काम करेंगे।
  • वे क्षमता निर्माण, जागरूकता कार्यक्रम, विभिन्न कार्यक्रमों और विभिन्न हितधारकों की कार्यशालाओं की दिशा में भी काम करेंगे।
  • एपीडा, एसएफएसी द्वारा सहायता प्राप्त या चिन्हित किए गए किसान निर्माता कंपनियों (एफपीसी) द्वारा जैविक उत्पादों / क्षेत्रों के प्रमाणीकरण की सुविधा प्रदान करेगा।

कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (APEDA):

एपीडा को फल, सब्जियां और उनके उत्पाद, मांस और मांस उत्पाद, पोल्ट्री और पोल्ट्री उत्पाद जैसे उत्पादों के निर्यात संवर्धन और विकास की जिम्मेदारी सौंपी गई हैं। इसके अलावा इस पर चीनी के आयात की निगरानी की जिम्मेदारी है।


लघु कृषक कृषि व्यापार संघ (SFAC):

एसएफएसी छोटे और सीमांत किसानों को किसान हित समूहों, किसान उत्पादक संगठनों और किसान उत्पादक कंपनी को संगठित करता है और छोटे और सीमांत किसानों को कृषि निवेशों की सुलभता और सस्ती उपलब्धता के लिए एक मंच प्रदान करता है।


Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search