Home   »   जम्मू में 10 दिवसीय बूढ़ा अमरनाथ...

जम्मू में 10 दिवसीय बूढ़ा अमरनाथ यात्रा शुरू

जम्मू में 10 दिवसीय बूढ़ा अमरनाथ यात्रा शुरू_3.1

भूमि पूजन के साथ भोले बाबा के भक्तों का पहला जत्था बूढ़ा अमरनाथ यात्रा पर रवाना हो गया है। प्रशासन ने हरी झंडी दिखाकर जत्थे को जम्मू से रवाना किया। यात्रा के दौराम सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी की गई है। 10 दिनों की अवधि वाली यह तीर्थयात्रा, भगवान शिव से आशीर्वाद लेने वाले भक्तों के लिए अत्यधिक महत्व की यात्रा है।

यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए सुरक्षाबलों ने मार्ग पर पड़ते गुरसाई गांव सहित एक दर्जन गांवों में तलाशी अभियान चलाया है। सप्ताह में यह दूसरा तलाशी अभियान था। बुधवार को नियंत्रण रेखा (एलओसी) के साथ बसे गांवों में तलाशी अभियान चलाया गया। पुंछ जिले में अधिकारियों ने बताया कि 10 दिवसीय यात्रा से पहले पूरे पुंछ में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

 

सबसे पुराने मंदिरों में से एक

बता दें कि यह मंदिर जम्मू क्षेत्र के सबसे पुराने मंदिरों में से एक है और यात्रा के दौरान यहां बड़ी संख्या में भक्त पहुंचते हैं। यह यात्रा छड़ी मुबारक (पवित्र गदा) के आगमन के साथ ही समाप्त होती है। दशनामी अखाड़ा पुंछ का यह तीर्थस्थल पुल्सता नदी के किनारे है। यह नदी पवित्र मानी जाती है और श्रद्धालु मंदिर में प्रवेश करने से पहले इसमें स्नान करते हैं।

 

Find More Miscellaneous News Here

जम्मू में 10 दिवसीय बूढ़ा अमरनाथ यात्रा शुरू_4.1

FAQs

अमरनाथ की यात्रा की चढ़ाई कितनी है?

यात्री या तो पारंपरिक दक्षिण कश्मीर पहलगाम मार्ग (43 किलोमीटर) से या उत्तरी कश्मीर बालटाल आधार शिविर से हिमालय गुफा मंदिर तक पहुंचते हैं, जिसमें समुद्र तल से 3888 मीटर ऊपर स्थित गुफा मंदिर तक 13 किलोमीटर की चढ़ाई शामिल है.