Home   »   Kisan Vikas Patra: अब 120 महीने...

Kisan Vikas Patra: अब 120 महीने में पैसा डबल, जानें सबकुछ

Kisan Vikas Patra: अब 120 महीने में पैसा डबल, जानें सबकुछ |_50.1

किसान विकास पत्र (केवीपी) खाता जमा पर वर्तमान ब्याज दर सालाना 7.2% है। संशोधित दर की घोषणा 30 दिसंबर को की गई थी। यह दर नए साल 2023 की पहली तिमाही में किए गए केवीपी जमा पर लागू होगी। केंद्र सरकार की तरफ से स्मॉल सेविंग्स पर मिलने वाले ब्याज की दरों में 1.10 फीसदी का इजाफा किया है। इसी के तहत किसान विकास पत्र पर अब 7.20 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा। इससे पहले योजना के तहत 7 फीसदी ब्याज मिलता था। वहीं अब 123 महीने की जगह 120 महीने में ही पैसा दोगुना हो जाएगा। यानी नए बदलाव के बाद अब मैच्योरिटी 10 साल में हो जाएगी।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

किसान विकास पत्र (केवीपी) ब्याज दर 2023

 

2023 की पहली तिमाही (जनवरी-मार्च) में लागू केवीपी ब्याज दर की घोषणा 30 दिसंबर, 2022 को की गई थी। नई ब्याज दर 7.2% है। केंद्र सरकार तिमाही आधार पर किसान विकास पत्र (केवीपी) की ब्याज दर में संशोधन करती है। KVP ब्याज दर का अगला संशोधन मार्च 2023 के अंत तक होगा। 7.2% ब्याज पर, KVP खाते में निवेश की गई राशि 10 वर्षों में दोगुनी हो जाएगी।

 

किसान विकास पत्र के बारे में

 

किसान विकास पत्र (KVP) प्रमाणपत्रों के रूप में भारत के डाकघरों में उपलब्ध बचत योजना है। इसे पहली बार 1988 में इंडिया पोस्ट द्वारा लॉन्च किया गया था। यह एक निश्चित दर वाली छोटी बचत योजना है जिसे आपके निवेश को तय अवधि के बाद दोगुना करने के लिए बनाया गया है। इस योजना को जनता के बीच लॉन्ग-टर्म निवेश और बचत को प्रोत्साहित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह उन निवेशकों के लिए एक अच्छी योजना है जो जोखिम लेने के लिए तैयार नहीं हैं पर उनके पास अतिरिक्त पैसा है और वे सुनिश्चित रिटर्न की तलाश कर रहे हैं।

Kisan Vikas Patra: अब 120 महीने में पैसा डबल, जानें सबकुछ |_60.1

 

FAQs

किसान विकास पत्र कितने साल का होता है?

किसान विकास पत्र, में जमा रकम पर फिलहाल, 7.2 प्रतिशत ब्याज मिलती है। इस ब्याज दर के हिसाब से 120 महीने (10 साल) में आपकी रकम दोगुना हो जाती है।

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *