Tuesday, 13 September 2022

टोक्यो ने भारत और जापान की 2+2 मंत्रिस्तरीय वार्ता की मेजबानी की

टोक्यो ने भारत और जापान की 2+2 मंत्रिस्तरीय वार्ता की मेजबानी की



रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने टोक्यो में अपने जापानी समकक्ष यासुकाजू हमदा के साथ द्विपक्षीय बैठक की। इस दौरान दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय मामलों सहित सहयोग के विभिन्न पहलुओं की समीक्षा की। द्विपक्षीय वार्ता के दौरान दोनों देशों की वायु सेनाओं के बीच उद्घाटन 'लड़ाकू अभ्यास' आयोजित करने पर सहमत हुए। 


Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams


राजनाथ सिंह ने कहा कि, दोनों देशों के बीच विशेष द्विपक्षीय रणनीतिक व वैश्विक साझेदारी एक स्वतंत्र, मुक्त और कानून आधारित हिंद-प्रशांत क्षेत्र सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। रक्षा मंत्री राजनाथ मंगोलिया और जापान की अपनी पांच दिवसीय के आखिरी पड़ाव में टोक्यो पहुंचे हैं। 


मुख्य बिंदु


  • बता दें कि, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री डा. एस जयशंकर टोक्यो में दूसरी भारत-जापान 2+2 मंत्रिस्तरीय वार्ता में हिस्सा ले रहे हैं।
  • जापान में होने वाली दूसरी 2+2 मंत्री स्तरीय वार्ता के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने समकक्ष यासुकाजु हमदा से मुलाकात की। 
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दोनों देशों के बीच विशेष द्विपक्षीय रणनीतिक व वैश्विक साझेदारी एक स्वतंत्र, मुक्त और कानून-आधारित हिंद-प्रशांत क्षेत्र सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। 
  • राजनाथ सिंह मंगोलिया तथा जापान की अपनी पांच दिवसीय के आखिरी पड़ाव में टोक्यो पहुंचे हैं। 
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हाल के दिनों में हमारे द्विपक्षीय संबंधों में उल्लेखनीय प्रगति हुई है। दोनों देशों के सांस्कृतिक और सभ्यतागत संबंधों का एक लंबा इतिहास रहा है।
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने टोक्यो में ड्यूटी के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले जापान के आत्मरक्षा बलों के जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की।
  • भारत और जापान ने बृहस्पतिवार को दूसरी ‘टू प्लस टू वार्ता’ के दौरान द्विपक्षीय रक्षा सहयोग बढ़ाने तथा लड़ाकू विमानों के पहले अभ्यास सहित और अधिक सैन्य अभ्यासों में शामिल होने पर सहमति व्यक्त की। 
  • उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की बढ़ती आक्रामकता के बीच दोनों देशों की विशेष द्विपक्षीय रणनीतिक एवं वैश्विक साझेदारी एक स्वतंत्र, मुक्त और कानून-आधारित हिंद-प्रशांत क्षेत्र सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। 
  • भारत ने आक्रामक चीन को रोकने के एक स्पष्ट प्रयास के तहत ‘‘जवाबी हमले की क्षमताओं’’ सहित रक्षा बलों के विस्तार और आधुनिकीकरण की जापान की योजनाओं को भी अपना समर्थन दिया।

Find More Summits and Conferences Here

PM Narendra Modi attends first virtual I2U2 summit 2022_90.1

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search