Tuesday, 13 September 2022

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती का निधन

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती का निधन



द्वारका एवं शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद का निधन हो गया है। 99 साल की उम्र में स्वामी स्वरूपानंद ने आखिरी सांस ली। उनका निधन मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में स्थित गोटेगांव के पास बने झोतेश्वर धाम में हुआ है। हाल ही में उनका जन्मदिवस मनाया गया था। 


Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams


शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद के पास बद्री आश्रम और द्वारकापीठ की जिम्मेदारी थी। उनका जब निधन हुआ तब वह अपने आश्रम में ही थे। बताया जाता है कि स्वामी स्वरूपानंद पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे। उनका नरसिंहपुर जिले में स्थित झोतेश्वर आश्रम में ही इलाज चल रहा था। 


शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती


  • मध्य प्रदेश से सिवनी जिले में जन्मे स्वरूपानंद सरस्वती 1982 में गुजरात में द्वारका, शारदा पीठ और बद्रीनाथ में ज्योतिर मठ के शंकराचार्य बने थे। उनका बचपन का नाम पोथीराम रखा गया था।
  • बीते दिनों  स्वरूपानंद सरस्वती ने राम मंदिर निर्माण के लिए लंबी कानूनी लड़ाई भी लड़ी थी। स्वामी शंकराचार्य आजादी की लड़ाई में जेल भी गए थे।
  • स्वामी स्वरूपानंद 1950 में दंडी संन्यासी बनाए गए थे। ज्योर्तिमठ पीठ के ब्रह्मलीन शंकराचार्य स्वामी ब्रह्मानन्द सरस्वती से सन्यास दंड की दीक्षा ली थी और स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती नाम से जाने जाने लगे। 
  • उन्होंने 9 साल की उम्र में घर छोड़ दिया था और धर्म की तरफ रुख किया।  उन्होंने काशी (यूपी) में वेद-वेदांग और शास्त्रों की शिक्षा ली।  उन्हें 1981 में शंकराचार्य की उपाधि मिली। 


Find More Obituaries News

Renowned Ghazal Singer Bhupinder Singh passes away_90.1

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search