Tuesday, 28 June 2022

टोगो और गैबॉन बने कॉमनवेल्थ एसोसिएशन के सदस्य

टोगो और गैबॉन बने कॉमनवेल्थ एसोसिएशन के सदस्य



टोगो और गैबॉन की एंट्री के बाद कॉमनवेल्थ देशों (Commonwealth of Nations) में अब 56 सदस्य देश हैं। दो ऐतिहासिक रूप से फ्रांसीसी-भाषी राष्ट्रों को औपचारिक रूप से कॉमनवेल्थ सरकार के प्रमुखों की बैठक में संघ में एंट्री कराया गया था, जिसकी अध्यक्षता रवांडा के राष्ट्रपति पॉल कागामे ने की थी। संगठन के महासचिव पेट्रीसिया स्कॉटलैंड के अनुसार, प्रवेश लोकतांत्रिक प्रक्रिया, प्रभावी नेतृत्व और क़ानून के शासन सहित कई मानकों के मूल्यांकन द्वारा निर्धारित किया जाता है।




Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams



प्रमुख बिंदु (KEY POINTS):


  • बैठक में राष्ट्राध्यक्षों और सरकार के परामर्श के बाद निर्णय लिया गया।
  • कभी भी दोनों अफ्रीकी राष्ट्र ब्रिटिश उपनिवेश नहीं थे।
  • टोगो के विदेश मंत्री रॉबर्ट ड्यूसी के अनुसार, कॉमनवेल्थ में देश की सदस्यता का लक्ष्य राजनयिक, राजनीतिक और वाणिज्यिक संबंधों के अपने नेटवर्क को व्यापक बनाना है।
  • गैबॉन के विदेश मंत्री माइकल मौसा एडमो के अनुसार, इसमें शामिल होने से फ्रांस के साथ संबंध बनाए रखते हुए आर्थिक विविधीकरण को मजबूती मिलेगी।
  • गैबॉन के राष्ट्रपति अली बोंगो को लगता है कि कॉमनवेल्थ में शामिल होने का लक्ष्य आधुनिकीकरण है।
  • जबकि पश्चिम अफ्रीका के एक देश टोगो ने 2014 में राष्ट्रमंडल में कानूनी रूप से प्रवेश करने की प्रक्रिया शुरू की, मध्य अफ्रीकी राष्ट्र की औपचारिक आवेदन प्रक्रिया पांच साल पहले शुरू हुई।



सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • कॉमनवेल्थ संघ के महासचिव: पेट्रीसिया स्कॉटलैंड
  • रवांडा के राष्ट्रपति: पॉल कागामे
  • गैबॉन के राष्ट्रपति: अली बोंगो
  • टोगो के राष्ट्रपति: फॉरे ग्नसिंगबे

Find More International News


Sri Lanka raises fuel prices as it prepares for economic catastrophe_80.1

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search