Tuesday, 1 September 2020

वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में दिखा 23.9 प्रतिशत का संकुचन

वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में दिखा 23.9 प्रतिशत का संकुचन

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (National Statistical Office) द्वारा वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही (अप्रैल से जून) के लिए सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के अनुमान जारी किए गए हैं। NSO ने स्थिर (2011-12) और वर्तमान दोनों मूल्‍यों में जीडीपी के अनुमान जारी किए हैं।


Boost your General Awareness Knowledge with Adda247 Live Batch: TARGET GA BATCH | SBI Clerk Mains & RBI Assistant Mains Exams

जारी किए गए ताजा अनुमान के अनुसार, Q1 में स्थिर (2011-12) मूल्‍य पर जीडीपी का अनुमान 26.90 लाख करोड़ रुपये है, जो कि 2019-20 के Q1 में यह मूल्य 35.35 लाख करोड़ रुपये था। इस प्रकार वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में जीडीपी में 23.9 प्रतिशत का संकुचन दिख रहा है जबकि वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में 5.2 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी। 

वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में वर्तमान मूल्‍य पर जीडीपी का अनुमान 38.08 लाख करोड़ रुपये है जबकि वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में यह आंकड़ा 49.18 लाख करोड़ रुपये रहा था। इस प्रकार वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में जीडीपी में 22.6 प्रतिशत का संकुचन दिख रहा है जबकि वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में 8.1 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी। 

उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन राज्य मंत्री: राव इंद्रजीत सिंह.

Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search