Wednesday, 4 March 2020

बीईई ने डीप फ्रीजर और LCAC के लिए स्टार रेटिंग कार्यक्रम किया शुरू

बीईई ने डीप फ्रीजर और LCAC के लिए स्टार रेटिंग कार्यक्रम किया शुरू

भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के तहत आने वाले ऊर्जा दक्षता ब्‍यूरो (Bureau of Energy Efficiency - BEE) ने अपने 19 वें स्थापना दिवस पर लाइट कमर्शियल एयर कंडीशनरों (LCACऔर डीप फ़्रीज़र के लिए स्टार रेटिंग कार्यक्रम शुरू किया है।


इस कार्यक्रम को शुरू में स्वैच्छिक मोड में 2 मार्च, 2020 से 31 दिसंबर, 2021 तक चलाया जाएगा। इसके बाद, उपकरणों के इस विशेष खंड में बाजार बदलाव के स्‍तर की समीक्षा के बाद इसे अनिवार्य बनाया जाएगा। डीप फ्रीजर का उपयोग भोजन, फलों के लिए किया जाता है, जिसमें वनस्पति जैसे पदार्थों को लम्बे समय तक रखा जाता है। लाइट कमर्शियल एयर कंडीशनर डीएससी (डिजिटल सुरक्षा नियंत्रण) सीरिज से AC रेगिंग के साथ 3-5 टन की क्षमता में आते हैं।


क्या होता है स्टार लेबलिंग कार्यक्रम?

स्टार लेबलिंग कार्यक्रम ऊर्जा संरक्षण अधिनियम, 2001 के तहत, ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी द्वारा तैयार किया गया है। यह एक उपयोगकर्ता के अनुकूल मंच है, जो उद्योग, उपकरण, भवन, परिवहन, नगरपालिका और कृषि क्षेत्रों में भारत की ऊर्जा दक्षता परिदृश्य की व्याख्या करता है। इस पहल के माध्यम से, वित्त वर्ष 2030 तक लगभग 2.8 बिलियन विद्युत यूनिट बचने की उम्मीद है, जो कि 2.4 मिलियन टन कार्बन डाइऑक्साइड के ग्रीन हाउस गैस (जीएचजी) न्‍यूनीकरण के बराबर है।


उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) के महानिदेशक: श्री अभय बाकरे.
  • ऊर्जा दक्षता मुख्यालय ब्यूरो: नई दिल्ली.
  • ऊर्जा दक्षता ब्यूरो का मूल संगठन : विद्युत मंत्रालय.

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search