Friday, 29 November 2019

इसरो ने अंतरिक्ष-ग्रेड ली-आयन सेल तकनीक को BHEL में किया स्थानांतरित

इसरो ने अंतरिक्ष-ग्रेड ली-आयन सेल तकनीक को BHEL में किया स्थानांतरित

इसरो ने अपनी स्वदेशी तकनीक अंतरिक्ष-ग्रेड ली-आयन सेल्स का उत्पादन भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL) में स्थानांतरित कर दिया है। मार्च 2018 में, BHEL ने ली-आयन सेल उत्पादन तकनीक प्राप्त करने के लिए इसरो के साथ प्रौद्योगिकी हस्तांतरण समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। यह उत्पादन सुविधा मुख्य रूप से इसरो और अन्य रणनीतिक क्षेत्रों के लिए ली-आयन सेल की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए लक्षित है।

हालांकि, बीएचईएल अन्य राष्ट्रीय/वाणिज्यिक अनुप्रयोगों के लिए स्पेस-ग्रेड सेल को उपयुक्त रूप से संशोधित करके ली-आयन कोशिकाओं का उत्पादन और बिक्री भी कर सकता है, जिससे लागत में कमी हो सकती है। BHEL कर्नाटक के बैंगलोर के पास ली-आयन उत्पादन सुविधा स्थापित करने की प्रक्रिया में है।

उपरोक्त समाचार से RRB NTPC/SSC CGL परीक्षा  के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • BHEL के अध्यक्ष और एमडी: नलिन शिंगल
  • 1964 में स्थापित; मुख्यालय: नई दिल्ली, भारत
स्रोत: प्रेस इन्फोर्मेशन ब्यूरो

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search