Thursday, 27 September 2018

तरलता को आसान बनाने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने नकद आरक्षित नियमों को बनाया आसन

तरलता को आसान बनाने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने नकद आरक्षित नियमों को बनाया आसन


भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों को देश के मुद्रा बाजारों को प्रभावित करने वाली तरलता दाब को कम करने के लिए सांविधिक नकदी भंडार को और बढ़ाने की अनुमति दी है। केंद्रीय बैंक द्वारा लिया गया यह कदम, एनबीएफसी को उधार देने के लिए से सख्त तरलता की स्थिति और बैंकों की अनिच्छा की चिंताओं का अनुसरण करता है।

आरबीआई के मुताबिक, बैंक अपनी तरलता कवरेज अनुपात (एलसीआर) आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए वैधानिक तरलता भंडार के तहत संपत्ति को 13% की तुलना में 15% कर सकते हैं।

स्रोत- दि हिंदू बिजनेस लाइन

उपरोक्त समाचार से Indian Bank PO Exam 2018 के लिए महत्वपूर्ण तथ्य- 
  • उर्जित पटेल- आरबीआई के 24 वें गवर्नर, मुख्यालय- मुंबई, स्थापना- 1 अप्रैल 1935, कोलकाता में.

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search