Tuesday, 20 March 2018

एनसीएए बनी विश्व की पहली विश्वसनीय डिजिटल रिपॉजिटरी

एनसीएए बनी विश्व की पहली विश्वसनीय डिजिटल रिपॉजिटरी


इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर आर्ट्स (आईजीएनसीए) द्वारा कार्यान्वित संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार की  राष्ट्रीय सांस्कृतिक ऑडिओविज़ुअल अभिलेख (एनसीएए) परियोजना को आईएसओ मानक के अनुसार विश्व की पहली विश्वसनीय डिजिटल रिपॉजिटरी के रूप में प्रमाणित किया गया है, जो कि प्राथमिक विश्वस्त डिजिटल रिपॉजिटरी ऑथराइजेशन बॉडी लिमिटेड (पीटीएबी), यूनाइटेड किंगडम द्वारा अनुदत्त है. 

एनसीएए का प्राथमिक उद्देश्य डिजिटलीकरण की प्रक्रिया के माध्यम से भारत के सांस्कृतिक विरासत को पहचानने और बनाए रखने के लिए ऑडियोज़ीज़ुअल फॉर्म में उपलब्ध कराना और लोगों तक पहुंचाना है.


स्रोत- प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो (PIB)

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search