Wednesday, 28 March 2018

'सौभाग्य' योजना का समर्थन करने के लिए उर्जा मंत्रालय और कौशल भारत में साझेदारी

'सौभाग्य' योजना का समर्थन करने के लिए उर्जा मंत्रालय और कौशल भारत में साझेदारी


ऊर्जा मंत्रालय ने अपने सौभाग्य योजना के त्वरित कार्यान्वयन के लिए छह राज्यों (असम, बिहार, मध्य प्रदेश, झारखंड, ओडिशा और उत्तर प्रदेश) में मानव शक्ति को प्रशिक्षित करने के लिए कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय के साथ भागीदारी की है.
सौभाग्य (प्रधान मंत्री सहज बिजली हर घर योजना) का उद्देश्य एक समयबद्ध तरीके से देश के सभी भागों में सार्वभौमिक घरेलू विद्युतीकरण प्राप्त कराना है. लगभग 4 करोड़ परिवारों को इस योजना के तहत बिजली कनेक्शन मिलने की संभावना है. पीएमकेवीवाई के तहत एक विशेष परियोजना भी इन छह राज्यों में शुरू की गई है.

स्रोत- प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो  (PIB)

नाबार्ड ग्रेड-A परीक्षा 2018 के लिए मुख्य तथ्य-
  • केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री और कौशल विकास एवं उद्यम मंत्री - धर्मेन्द्र प्रधान 
  • केन्द्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विद्युत और नई और नवीकरणीय ऊर्जा-आर.के सिंह.

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search