Breaking News



Tuesday, 16 May 2017

प्रधान मंत्री मोदी ने मध्यप्रदेश में नदी संरक्षण परियोजना की शुरूआत की


प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने महत्वपूर्ण नदीयों के संरक्षण के लिए नर्मदा सेवा मिशन की स्थापना की, जो कि मध्य प्रदेश की जीवन रेखा है. सरदार सरोवर बांध की स्थापना को रोकने के लिए लंबा संघर्ष का केंद्र बनने के कारण नर्मदा नदी ने राष्ट्र का ध्यान आकर्षित किया.

नदीयों के संरक्षण का कार्य नई सरकार के सत्ता में आने के बाद से ही तेज किया गया. नर्मदा सेवा यात्रा 11 दिसंबर 2016 को शुरू की गई थी, इसे सार्वजनिक भागीदारी के साथ विश्व की "सबसे बड़े नदी संरक्षण अभियान के रूप में प्रस्तुत किया गया था.” यह 15 मई 2017 को समाप्त हुआ था.

नर्मदा सेवा यात्रा क्या है?
  • आरंभ: 11 दिसंबर, 2016 अमरर्कटक से, नदी नर्मदा की उत्पत्ति स्थान
  • दक्षिणी किनारे पर स्थित दूरी: 1831 किमी
  • दक्षिणी किनारे में शामिल गांवों और कस्बों की संख्या: 548
  • उत्तरी किनारे पर स्थित दूरी: 1513 किमी
  • दक्षिणी किनारे में कवर किए गए गांवों और कस्बों की संख्या: 556
  • समाप्त: 15 मार्च 2017 को अमरकंटक (148 दिन)

बॉब पीओ परीक्षा के लिए उपरोक्त समाचार से महत्वपूर्ण तथ्य-
  • सरदार सरोवर बांध मध्य प्रदेश में स्थित है और नर्मदा नदी पर बना है
  • नर्मदा मैकल पहाड़ियों से निकलती है और मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात के माध्यम से इसका रास्ता अंततः अरब सागर में बह रहा है.

स्त्रोत- हिंदुस्तान टाइम्स 

No comments:

Post a Comment