Breaking News



Friday, 12 May 2017

भारत अंटार्कटिका में मैत्री स्टेशन का प्रतिस्थापन करेगा, अनुसंधान गतिविधियों का विस्तार करेंगा


भारत ने अगले तीन-चार वर्षों में एक नए अनुसंधान के साथ अंटार्कटिका में मैत्री अनुसंधान केंद्र को प्रतिस्थापित करने का निर्णय लिया है.


देश अंटार्कटिका में अपने हितों की रक्षा करने के लिए कानूनों का प्रारूप तैयार कर रहा है और यह सबसे ठंडा महाद्वीप में अपनी शोध गतिविधियों को विस्तारित करने के लिए तैयार है, इसमें विशेष उद्देश्य के लिए बर्फ-काटने की सुविधा भी प्राप्त की जाएगी.




बॉब पीओ परीक्षा के लिए उपरोक्त समाचार से महत्वपूर्ण तथ्य-

  • दक्षिण गंगोत्री 1984 के दौरान अंटार्कटिका में स्थापित पहला भारतीय वैज्ञानिक अनुसंधान बेस स्टेशन था
  • मैत्री अंटार्कटिका में भारत का दूसरा स्थायी अनुसंधान केंद्र है. यह 1989 में बनाया गया था.
स्त्रोत- लाइव मिंट

No comments:

Post a Comment